बहुलक क्या होते हैं ? संरचना के आधार पर बहुलकों का वर्गीकरण

बहुलक

what is polmer and its types in hindi बहुलक  ऐसे वृहदाणु (macromolecules) जो कि पुनरावृत्त संरचनात्मक इकाइयों के वृहत पैमाने पर जुड़ने से बनते हैं बहुलक कहलाते हैं। बहुलकों के कुछ उदाहरण हैं-पॉलिथीन, नाइलॉन-6, 6, बैकलाइट, रबर आदि।





संरचना के आधार पर बहुलक तीन प्रकार के होते हैं

  1. रैखिक बहुलक (Linear polymers)
  2. शाखित श्रृंखला बहुलक (Branched chain polymers)
  3. तिर्यकबन्धित अथवा जालक्रम बहुलक (Cross linked polymers)

(1) रैखिक बहुलक (Linear polymers) —–

इन बहुलकों में लम्बी और रेखीय श्रृंखलाएँ होती हैं। उच्च घनत्व पॉलिथीन, पॉलिवाइनिल क्लोराइड आदि इसके उदाहरण हैं

(2) शाखित श्रृंखला बहुलक (Branched chain polymers)-

इन बहुलकों में रेखीय श्रृंखलाओं में कुछ शाखाएँ होती हैं। उदाहरण-निम्न घनत्व पॉलिथीन।



(3) तिर्यकबन्धित अथवा जालक्रम बहुलक (Cross linked polymers) —

यह साधारणत: द्विक्रियात्मक और त्रिक्रियात्मक समूहों वाले एकलकों से बनते हैं तथा विभिन्न रेखीय बहुलक श्रृंखलाओं के बीच प्रबल सहसंयोजक बन्ध होते हैं।

उदाहरण

बँकेलाइट, मेलैमीन आदि। इन बहुलकों को व्यवस्थात्मक रूप में निम्नलिखित प्रकार से प्रदर्शित करते हैं



Related posts

Leave a Comment