{12th Biology}लैमार्क के मूल आधार क्या थे

लैमार्क के मूल आधार क्या थे लैमार्क के मूल आधार निम्नलिखित हैं – जीव के आन्तरिक बल में जीवों के आकार को बढ़ाने की प्रवृत्ति होती है जिसका अर्थ यह है कि जीवों के पूरे…

1 Like Comment

{12th Biology}उत्परिवर्तन पर संक्षिप्त टिप्पणी

उत्परिवर्तन पर संक्षिप्त टिप्पणी उत्परिवर्तन ह्यूगो डी ब्रीज (Hugo de Vries, 1848 – 1935), हॉलैण्ड के एक प्रसिद्ध वनस्पतिशास्त्री ने सांध्य प्रिमरोज (evening primrose) अर्थात् ऑइनोथेरा लैमार्किआना (Oenothera lamarckigna) नामक पौधे की दो स्पष्ट किस्में देखीं,…

6 Likes Comment

{12th Biology}जैव विकास के पक्ष में जीवाश्म विज्ञान के प्रमाण पर टिप्पणी

जैव विकास के पक्ष में जीवाश्म विज्ञान के प्रमाण पर टिप्पणी जैव विकास के जीवाश्म विज्ञान से प्रमाण (Gr. Palaeos = ancient, onta – existing things and logous = science) जीवाश्म (fossil) का अध्ययन जीवाश्म विज्ञान (Palaeontology) कहलाता है। जीवाश्म का…

6 Likes Comment

{12th Biology}नवडार्विनवाद पर एक टिप्पणी

नवडार्विनवाद पर एक टिप्पणी नवडार्विनवाद/जैव विकास का आधुनिक संश्लेषणात्मक सिद्धांत वर्ष 1930 तथा 1945 के मध्य आधुनिक खोजों के आधार पर डार्विनवाद में कुछ परिवर्तन सम्मिलित किये गये तथा प्राकृतिक चयनवाद को पुनः मान्यता प्राप्त…

2 Likes Comment