गतिमान आवेष तथा चुम्बकत्व